DM Full Form In Hindi? ऐसे बनें कलेक्टर ? (In Detail)

DM Full Form In Hindi? DM का फुल फॉर्म ? DM क्या है? इन्हे और किस नाम से जाना जाता है? DM कैसे बनते है ? DM Eligibility Criteria ? DM के कार्य? 

दोस्तो सरकारी कामों में या अपने डिस्ट्रिक में, कहीं ना कहीं आपने DM का नाम तो सुना ही होगा। आप अक्सर सोचते होंगे की DM कौन होते है, इनका क्या काम होता है और आखिर ये बनते कैसे हैं?

तो दोस्तो आज आप निश्चिंत हो जाइए, क्योंकि आज हम आपको DM के बारे में सभी जानकारियां बताने वाले हैं। हम आपको बताएंगे की DM क्या होता है, DM Full Form क्या है, DM के कार्य क्या होते है और ये कैसे बना जाता है।

चलिए दोस्तो शुरू करते हैं हमारा आज का आर्टिकल।

D  DISTRICT
M   MAGISTRATE

DM का फुल फॉर्म?

दोस्तो सबसे पहले आज हम DM Full Form जानेंगे। DM का फुल फॉर्म होता है : 

D – District

M – Magistrate 

DM का फुल फॉर्म ‘District Magistrate’ होता है।

DM Full Form In Hindi?

दोस्तो आपने DM Full Form तो जान लिया, अब हम आपको बताएंगे की DM को हिंदी में आखिर क्या कहते हैं।

दोस्तो DM को हिंदी भाषा में ‘जिला अधिकारी’ कहते है।

DM – District Magistrate / जिला अधिकारी

DM क्या है? इन्हे और किस नाम से जाना जाता है?

दोस्तो DM या District Magistrate एक Indian Administrative Service (IAS) officer है जो भारत में एक जिले प्रशासन की basic unit का in-charge होता है।

2021 के डाटा के हिसाब से भारत में अभी 748 ज़िले हैं और उतने ही जिला अधिकारी भी। इन्हें DM के साथ ही DC भी कहा जाता है। DC का फुल फॉर्म होता है : ‘District Collector’

DM कैसे बनते है ?

DM बनने के लिए candidate को सबसे पहले UPSC-CSE exam में पास होकर एक IAS बनना पड़ता है। जिसके लिए आपको UPSC exam में top 100 में आना पड़ेगा।

दोस्तो UPSC का फार्म आप सरकार की इस साइट पे जाके कर सकते हैं : UPSC

Training Period के 2 साल सहित 6 साल तक IAS के रूप में सेवा करने के बाद, candidate DM बनने के लिए सक्षम है।

एक DM बनने के लिए उम्मीदवार को IAS की rank list में top पर होना बहुत जरूरी है।

DM Eligibility Criteria ?

दोस्तो DM बनने के लिए कुछ criteria होते है जो आपको पूरे करने करते होते है। यह criteria निम्नलिखित हैं : 

  1. Nationality – Indian 
  1. Minimum Age Limit – 21 Years 
  1. Maximum Age Limit
    • General Category – 32 Years
    • OBC – 35 Years
    • SC/ST    – 37 Years
    • Defense Service Personnel – 35 Years
    • Ex-Servicemen – 37 Years
    • Handicapped Person – 42 Years
    • ECO’s/SSCO’s who have been in Military Service for 5 years – 37 Years
  1. Educational Qualifications – Must have a bachelor’s degree
  1. No. of Attempts – 
    • General Category – 6 Attempts
    • OBC – 9 Attempts
    • SC/ST – No limit till 37 years
    • General Category (Handicapped) – 9 Attempts
    • OBC (Handicapped) – 9 Attempts
    • SC/ST (Handicapped) – No Limit

DM के कार्य? Roles & Functions of DM ?

एक DM अपने जिले में निम्नलिखित कार्य करता हैं : 

  1. Executive magistrate के criminal court का संचालन करता है।
  1. जिले में न्याय और प्रशासन को बरकरार रखता है।
  1. पुलिस के साथ coordinate करता है।
  1. पुलिस थाना, juvenile जेल, व अन्य जेलो का निरीक्षण करता है ।
  1. परेशानियां जैसे दुर्घटना के दौरान, उसे संभालना।
  1. Child Labour से जुड़ी दिक्कतों को दूर करना, आदि।

Summary

दोस्तो आज हमने DM के बारे में बहुत सी जानकारियां जानी। हमने जाना की DM क्या है, DM Full Form क्या होता है, DM कैसे बनते है अथवा DM के क्या क्या कार्य होते हैं।

DM एक देश के लिए बहुत ही जरूरी पोस्ट है क्योंकि देश शहरों से बनता है और शहर जिले से।  ये सुनिश्चित करने के लिए की लोग एक देश में शांति से और खुशी से रहे, सरकारी व्यवस्था एक जिले से ही शुरू होनी चाहिए।

अगर हर जिले के पास अपना एक जिला अधिकारी होगा, तो वो उनके लिए बहुत ही सरल और सहज बात होगी। उस जगह के लोग अपनी परेशानियां सीधा DM से कह सकते हैं और दूसरी ही तरफ DM भी अपने जिले में कानून व्यवस्था व अन्य कार्य आसानी से कर सकते हैं।

मिलता झूलता :

UPPSC FULL FORM

MG FULL FORM

ABVP FULL FORM

DSP FULL FORM

SHO FULL FORM

FAQ :-

DM का फुल फॉर्म क्या होता है?

DM का फुल फॉर्म  ‘District Magistrate’ होता है।

DM को और क्या कहा जाता है ?

DM को DC या ‘District Collector’ कहा जाता है।

DM बनने के लिए कौन सा exam देना पड़ता है?

DM बनने के लिए UPSC का exam देना होता है।